Shayari Boy | शायरी बॉय

Shayari Boy
Shayari Boy

Shayari Boy

इश्क ❤️ का जिसको ख्वाब आ जाता है,

समझो उसका वक़्त खराब आ जाता है,

महबूब 😊 आये या न आये,

पर तारे 🦋 गिनने का तो हिसाब आ ही जाता है!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

खाली कुओं से आस😊 ना पानी की रख नईम

दिल हि में कुछ नहीं है 🦋 तो क्या लब पे आएगा.!!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

कभी गुफ्तगू करने का 😊 बहाना कर लो

मुझको 🦋 बुला लो या मेरे पास आना 🏃 जाना कर लो

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

शायरी बॉय

समझ…

ज्ञान से 😊 ज्यादा गहरी होती है..

बहुत से लोग आपको “जानते” हैं..

परंतु कुछ ही🦋 आपको “समझते” हैं..

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

Also Read :-

Shayari Boy

 

वक़्त 🙂 का सितम तो देखिए,

खुद गुज़र जाता है हमे 🦋 वही छोड़ कर .
😔..

मेरी कलम से ✍

धीरे धीरे उम्र कट 😊जाती हैं!
जीवन 🦋यादों की पुस्तक बन जाती है!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

सुन छोरी!! होंगे 😊 तेरे दीवाने बहुत,
लेकिन मैं तो बस अपनी सुबह 🌇 की चाय का दीवाना हूँ।

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

टूटे हुए कांच की 🙂 तरह चकना चूर हो गया!!

किसी को लग ना जाऊं इसी लिए 😭 सब से दूर हो गया!!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

Shayari Boy

शहर ग़ैर 🙃 हो चुका है..
तुम ग़ैर हुए तो क्या हुए…!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

मुद्दत से तमन्ना 🙂हुई अफसाना न मिला

हम खोजते रहे मगर 🦋ठिकाना न मिला

लो आज फिर चली गई जिंदगी नजरो😶 के सामने से

और उसे कोई रुकने 😔का बहाना न मिला

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

ज़िन्दगी की 🙂 हक़ीक़त बस इतनी सी हैं,
की इंसान पल भर में याद 🦋 बन जाता हैं

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

यूँ पलके बिछा😶 कर तेरा इंतज़ार करते है ……

यह वो गुनाह है जो हम🙃 बार बार करते है …!!

यूँ पलके बिछा😊 कर तेरा इंतज़ार करते है ……

यह वो गुनाह है जो हम 🏃बार बार करते है …!!

तुम चाहे बंद कर लो दिल❤️ के दरवाजे सारे,

हम दिल मे उतर आएंगे, कलम के सहारे।

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

मेरी खामोशियों 😊की झील में फिर….
किसी 🦋आवाज का पत्थर गिरा है!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

shayariboy

न जाने कौन सी साज़िशों का हम 🙂 शिकार हो गए,
कि जितने साफ़ दिल❤️ थे उतने ही दाग़दार हो गए!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

मैं अपनी इबादत 🙂खुद ही कर लूँ तो क्या बुरा है..?

किसी फकीर से सुना था 🦋मुझमें भी खुदा रहता है।

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

लफ्ज मिलते नहीं जज्बात क्या लिखूं

दर्द ही दर्द है अल्फाज क्या लिखूं..!!

गैरों के दामन में दे दी खुशियां

अपनी तकदिर क्या लिखूं..!!

चलते रहे वफा के राहों में

किसी को बेवफा क्या लिखूं..!!

मंजिलो को पाना मुक्कदर में नहीं

कदमों के निशां क्या लिखूं..!!

उनकी मुस्कान के लिए सजदे गुजर जाऊँ

अब उनकी दिल्लगी क्या लिखूं..!!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

तसल्ली के भी नख़रे 🙂 बहुत हैं..

लाख कोशिशें 🌇 कर लो मिलती ही नही है….

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

पहली नज़र, पहली 🙂दोस्ती, पहली मोहब्बत…
भूल जाने की बात😁 तो नहीं होती…!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

जो नफरत उसको 🙂 दिखाई थी
कुछ यूँ बेकार हो गई।

जुबान मेरे बस 🦋 में रहीं,
और आँखे गद्दार हो गई।

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

Shayari boy

ख़्वाब ही ख़्वाब 😊कब तलक देखूं,

काश तुझ को भी इक 🙂झलक देखूं,

पता नही हम जिंदा रहे ना रहे,

इसलिए सोचा दिल❤️ की बात कह दूं!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

होता अगर मुमकिन, तुझे 😊साँस बना कर रखते सीने में !

तू रुक जाये तो मैं नही, मैं ‎🥰मर जाऊँ तो तू नही !!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

सोचा था आज 😊तेरे सिवा कुछ और सोचुँ !

अभी तक इस सोच में हुँ कि और क्या 🦋सोचुँ !!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

फासलों का 😶एहसास, तो तब हुआ साहेब !
जब मैंने कहा मैं ठीक हूँ और 😭उसने मान लिया !!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

ख्वाब बनकर 😆 नींद चुराया ना करो,
बहुत चोट लगती है मेरे दिल को,
तुम ख्वाबो में 🥰आकर युँ तडपाया ना करो!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

सुनो

कहो ना कैसी😊 लगती है?

वो चाय जो मेरे बग़ैर पीते हो..

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

 

कितना नादीम (शर्मींदा) हुआ मै बुरा 😕कह के उसे !

क्या पता था जाते जाते वो 🙂दुवा दे जायेंगा !!

🌼🦋┄┅══❁💝❁════┅🦋🌼

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here