हजारो फेरे
लगाए थे 😍उसके मोहल्ले में
कोई सिर्फ सात फेरे
लगाकर उसे 😔उठा ले गया 🙄

खुबसूरत इशारों में वो हम🤐 पर अपना हक जता देते है..!!
वो मेरे नही होते…पर 😄हमे अपना  बता देते है..!!!

हम रूठ 😒भी जाएं तो ……हमें मनाएगा कौन,,
बस इसी फिक्र में ……खुश रहते हैं…!!

गुजरते लम्हों के साथ सब कुछ 😔बदल जाता है,
जिंदगी बदल 🤐जाती है, जीने का तरीका बदल जाता है।।।

इंसानो 😊की बस्ती का
यही तो बस एक रोना है
अपने हो तो 🤐ज़ज्बात,
दूसरों के हों तो खिलौना है…

💞बहक जाने दो आज जरा सा 😍हमें भी
सुना है होश😇 में लाने का हुनर आता उन्हें💞

काग़ज़ है, कलम है, जाम है,
तेरा 😍नाम है,
हमारे पास दिल 💖जलाने के सारे इंतज़ाम हैं…😔

टूट कर अब हम 😔बिखरने लगे हैं
सच छोड़ कर झूठ अब निखरने😏 लगे हैं।

ज़िन्दगी की 😊हकीकत को
बस इतना ही जाना है
दर्द😒 में अकेले हैं और
खुशियों😄 में सारा जमाना है…

खुशियों😄 का यह दौर है   
पर हम जानते हैं             हकीकत 😔कुछ और है।

ऐसे ही और शायरी पढ़ने के लिए नीचे दबाये