Dukhi Shayari

आंसू चाहे किसी के भी हों
ये तभी बाहर आते हैं जब दिल में दर्द छुपा होता है

Dukhi Shayari

दुनिया में मोहब्बत पता नहीं क्यों बरकरार है शायद इकतरफा प्यार अभी भी वफादार है

Dukhi Shayari

किसी को इतना भी न चाहो के बाद में रोना पड़े
ये दुनिया दिल से नहीं जरूरत से प्यार करती है

Dukhi Shayari

आज की हर लव स्टोरी का यही उसूल है
तुम जिसको याद करके रो रहे हो वो किसी और को खुश रखने में बिजी होता है

Dukhi Shayari

जब हम किसी को न पा सके तो बहुत दर्द होता है
पर किसी को पा कर खो देना ज़िन्दगी तबाह कर देता है

Dukhi Shayari

अगर दूर जाना है तो बोल दिया होता
मैं खुद ही चला जाता, तेरा यूँ बेरुखी से पेश आना अब सहा नहीं जाता

Dukhi Shayari

इतने अनमोल तो नहीं हम किसी के लिए पर हमारी क़दर करना शायद हमारे बाद हम जैसा ना मिले

Dukhi Shayari

छोड़ा कुछ इस अदा से हमे उस ने की,
 सारी उम्र हम अपना कसूर ढूंढते रहे

ऐसे ही और शायरी पढ़ने के लिए नीचे दबाये

यहाँ दबाएँ