दोस्तों से बिछड़ के यह एहसास हुआ ग़ालिब थे तो कमीने,
लेकिन रौनक भी उन्हीं से थी ।

दोस्ती कभी ख़ास लोगों से नहीं होती,
जिनसे हो जाती है वही लोग ज़िन्दगी में ख़ास बन जाते है !

बेशक थोड़ा इंतजार मिला हमको, पर दुनिया का सबसे हसीं यार मिला हमको, न रही तमन्ना अब किसी जन्नत की, तेरी दोस्ती में वो प्यार मिला हमको.

आसमान से तोड़ कर तारा दिया है| आलम ए तन्हाई में एक शरारा दिया है|
मेरी किस्मत भी नाज़ करती है मुझे पे| खुदा ने दोस्त ही इतना प्यारा दिया है.

जो तू चाहे वो तेरा हो, रोशन रातें और खूबसूरत सवेरा हो, जारी रहें हमारी दोस्ती का सिलसिला, कामयाब हर मंजिल पर दोस्त मेरा हो|

कुछ खोये बिना हमने पाया है,
कुछ मांगे बिना हमें मिला है,
नाज़ है हमें अपनी तक़दीर पर जिसने आप जैसे दोस्त से मिलाया है !

शायद फिर वो तक़दीर मिल जाये जीवन के वो हसीं पल मिल जाये चल फिर से बैठें वो क्लास कि लास्ट बैंच पे शायद फिर से वो पुराने दोस्त मिल जाएँ ।

हँसमुख चेहरा एक जादुई आकर्षण हैं, जो हर किसी को मोह लेता है और मित्र बनाता है।

दोस्त को दौलत की निगाह से मत देखो , वफा करने वाले दोस्त अक्सर गरीब हुआ करते हैं….!!

दोस्त_दवा 💊 से भी ज्यादा #अच्छे ☺ होते हैं क्योंकि,
अच्छी दोस्ती 👫 की कोई #Expiry_Date 📅 नहीं होती..!

ऐसे ही और शायरी पढ़ने के लिए नीचे दबाये